वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार : ऐसे बनाएं घर के दरवाजे कभी नहीं होगी तिजोरी खाली

हम अपने घर में प्रवेश करते हैं हमारे घर के मुख्य दरवाजे से, इसलिए ऐसा कहा जाता है कि मुख्य दरवाजा आपकी और आपके परिवार की ज़िन्दगी का एक अहम् हिस्सा है। ये वो घर के दरवाजे है जहाँ से आपके घर पर नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा आती | इसलिए वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार का वास्तु सही होना बेहद जरूरी है।  घर का मुख्य द्वार और वास्तु का बहुत नज़दीक का नाता है | वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य द्वार सही बना हो तो बहुत से मुसीबत से निजात पाया जा सकता है |

वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार


घर का मेन गेट



वास्तु की माने तो अगर मुख्य दरवाजा आपका सही होगा तो आपके घर पर हमेशा माँ लक्ष्मी का वास रहेगा और सुख, शांति और समृधि हमेशा आपके साथ रहेगी। 
चलिए वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार से जुडी कुछ जरुरी बातें 


Main Door Vastu For Flats – Vastu color for main gate

  • घर के आगे अर्थात सामने कभी भी कोई खम्भा या कोई पेड़ नही होना चाहिए क्योकि इनकी छाया का घर पर पड़ना शुभ नही माना जाता । अगर आपके घर के बाहर कोई पेड़ है और उसकी छाया आपके घर पर पड़ रही हैं तो आप आपने मैं गेट पर शुभ चिन्ह स्वस्तिक को रोज बनाये और गेट के पास तुलसी का पौथा लगाये। ऐसा करने से घर में नकारात्मक ऊर्जा नही आ पाती। 
  • वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार कभी भी दक्षिण पश्चिम में न होकर उत्तर पूर्व दिशा में या दक्षिण पश्चिम दिशा में होना चाहिए। ऐसा कह जाता है ऐसे घरो में माँ लक्ष्मी की कृपा होती है। 
  • वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार के बाहर एक साफ़ और आयातकार पैरदान यानि डोरमैट रखा होना चाहिए। इससे आपके घर की कई समस्याए दूर हो जायेगी और घर में रहने वाले परिवार के सभी लोगो के बीच सम्बन्ध मजबूत होगा। 
  • ऐसा कहा जाता है कि किसी भी घर का मुख्य दरवाजा बाकि कमरों के दरवाजो से बड़ा होना चाहिए।
  • घर का मुख्य दरवाजा अगर दो पल्ले का होगा तो वो शुभ माना जाता है। पहले ज्यादातर घर के दरवाजे दो पल्ले के होते थे पर अब ज्यादातर एक पाले का दरवाजा ही दिखाई देता है। दो पल्ले का होना वास्तु के हिसाब से शुभ इसलिए माना जाता है क्योकि ऐसा होने से घर में कभी भी आर्थिक तंगी नही होती है। • इस बात का ध्यान रखे कि मुख्य दरवाजा खोलते या बंद करते समय आवाज न करता हो। 
  • मुख्य दरवाजा ऐसा होना चाहिए जिससे लोगो को घर में आने और जाने में कोई परेशानी न हो। 
  • दरवाजे पर आपके नाम की नेमप्लेट जरुर होनी चाहिए । इस बात का ध्यान रखे कि नेमप्लेट हमेशा साफ़ सुथरी हो। वास्तु के अनुसार ऐसा करने से घर में सुख, धन और सेहत बनी रहती है। 
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य द्वार लकड़ी का बना हुआ होना चाहिए ऐसा घर के लिए शुभ होता है। जितना हो सके दरवाजे में लोहे या अन्य धातुओ का प्रयोग कम से कम हुआ हो। ऐसा इसलिए ताकि आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा बने रहे और माता लक्ष्मी आप पर खुशियाँ बरसाती रहे। 
  • मुख्य दरवाजा आयताकार आकर का होना चाहिए। 
  • वास्तु के अनुसार अगर मुख्य दरवाजा बाहर की और खुलता है तो घर में रहने वाले लोगो की सेहत ठीक नही रहती और उनके अनावश्यक खर्चे भी होते रहते है। 
  • घर का मुख्य दरवाजा कभी भी घर के कोने में नही होना चाहिए।

यह भी पढ़े 

ये भी पढ़े   भूलकर भी न रखें भगवान की मूर्ति इस जगह जान लीजिए पूजा रूम का वास्तु शास्त्र इन हिंदी
टैग्स: , , , ,
Previous Post

भूलकर भी न रखें भगवान की मूर्ति इस जगह जान लीजिए पूजा रूम का वास्तु शास्त्र इन हिंदी

Next Post

अच्छी सेहत के लिए वास्तु | Best Vastu Tips For Health And Wealth