ईशान कोण में शौचालय होने के उपाय

वास्तु केअनुसार ईशान कोण में शौचालय के उपाय (पूरी जानकारी)

आज के समय में लोग घर बनाते समय वास्तु का पूरा ध्यान रखते है क्योंकि घर में जितनी सुख-शांति मिलती है उतनी और किसी जगह नहीं मिलती l हर व्यक्ति घर को स्वर्ग जैसा बनाना चाहता है और इसलिए वास्तु का पूरा ध्यान रखता हैl लेकिन कई बार गलती हो जाती है और वास्तु दोष रह जाता है, ऐसे में तोड़-फोड़ करना संभव नहीं होता है l जिस तरह घर की बाकी जगह का ध्यान रखा जाता है उसी तरह शौचालय वास्तु का ध्यान रकना भी जरुरी है l

ईशान कोण में शौचालय के उपाय

ऐसा ही एक वास्तु दोष है ईशान कोण में शौचालय को बनवाना l यह आपकी सबसे बड़ी गलती मान लो या भूल मान लो की आपने ईशान कोण शौचालय क्यों बनवाया l ईशान कोण देवताओं की दिशा है और वहां सिर्फ पानी और पूजाघर का स्थान हैl वास्तु में ईशान कोण (उतर-पूर्व) की दिशा सबसे शुभ मानी जाती है l

इस दिशा में शौचालय का बनवाना सबसे बड़ा वास्तु दोष माना जाता है l जो स्थान पूजा के लिए बनी है उस स्थान पर मल त्याग का स्थान बनवाना सबसे बड़ा वास्तु दोष माना जाता हैl ऐसे में अब अगर ईशान कोण में शौचालय बनवा दिया है तो इसे तुडवाना संभव नहीं है तो कुछ उपाय करके वास्तु दोष को दूर किया जा सकता हैl

ये भी पढ़े   Vastu shastra sleeping direction

ऐसे में अपने अंदर ग्लानी को रखना सही नहीं है की मेने बहुत बड़ी गलती कर दी, इंसान है गलती हो ही जाती हैl मंगल दोष होने के बाद भी कई शादियाँ हुयी है और वे सुखी से जीवन जी रहे हैl ऐसे में ईशान कोण में शौचालय है वे लोग भी अच्छे से जी रहे है लेकिन बस जरूरत है कुछ उपायों को अपनाने की l आईये जानते है ईशान कोण के उपाय l

वास्तुशास्त्र के अनुसार शौचालय | vastu shastra for toilet in hindi

अगर ईशान कोण यानी उतर-पूर्व दिशा में शौचालय है तो बाहर की दीवार पर उतर या पूर्व की और एक आइना लगाना चाहिए l शौचालय के ईशान कोण में एक छोटा सा गड्डा बना ले और उसमे एक कृत्रिम फब्बारा लगा ले जिसमे से निरंतर पानी बहता रहेl
अपने शौचालय की दक्षिण दीवार पर पिरामिड लगायेl यह वास्तु दोष को दूर करने का सबसे कारगार उपाय हैl

शौचालय का दरवाजा हमेशा बंद रखें और इस बाद का विशेष ध्यान रखें की दरवाजे के ठीक सामने आइना नहीं होना चाहिएl
हो सके तो शौचालय की दीवार पर शिकार करते हुए शेर का चित्र लगा देl

शौचालय के उतरी-पूर्वी कोण पर भूमि में एक छोटा सा छेद करें, जिससे उतर-पूर्वी कोण अलग हो जाएl
दक्षिण-पश्चिम कोण पर एक कार्बन आर्क इस प्रकार से लगा ले जिससे की उसका प्रकाश शौचालय के उतर-पूर्वी कोण पर पड़ेl
कांच के एक बड़े बर्तन में डली वाला नमक भर कर शौचालय में रख दे और किसी रविवार को वहां फ़्लैश करके नए बर्तन को नमक से भर देl

ये भी पढ़े   बरक्कत के लिए तिजोरी में किस रंग का कपड़ा बिछाएं

इसके अलावा जितना हो सके ईशान कोण में बने शौचालय का प्रयोग बंद कर देना चाहिए l उम्मीद करता हूँ की “ईशान कोण में शौचालय के उपाय ” से संबधित पोस्ट आपको पसंद आई होगी और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और कमेंट बॉक्स में अपने विचार दे ताकि हम आगे भी ऐसी अच्छी से अच्छी पोस्ट आपके बीच ला सकेl

लेटरिंग घर के दक्षिण या दक्षिण पश्चिम दिशा में होना चाहिए।   बाथरूम उत्तर या फिर उत्तर पश्चिम दिशा में होना शुभ होता है।

 सीढ़ियों के नीचे आप  स्टोर रूम बनवा सकते हैं।

शौचालय पूर्व, उत्तर , उत्तर पूर्व और केंद्र में नहीं होना चाहिए।

सेफ्टी टैंक में हमेशा उत्तर पश्चिम दिशा में होना चाहिए।

घर में शौचालय पूर्व, पश्चिम, उत्तर दिशा में बनाना वर्जित है।

 

 

Previous Post

दुकान में बरकत के लिए उपाय – दुकान में ग्राहक बढाने के उपाय

Next Post
vastu-tips_1542715181
वास्तु

भूखंड से संबंधित वास्तु टिप्स – vastu for plots