breaking of glass according to vastu

वास्तु के अनुसार कांच का टूटना Breaking Of Glass According To Vastu

what happens if glass breaks in home

हिन्दू संस्कृति में वास्तु और शगुन-अपशगुन को बहुत माना जाता है। बिल्ली रास्ता काट दे, जाते समय अचानक छींक आ जाए, ग्रह-नक्षत्र आदि सभी तरह के शगुन-अपशगुन को हम लोग बहुत मानते है। इसी तरह एक और चीज है कांच का टूटना, जिसे हम लोग अपशगुन मानते है।



अक्सर घर के बुजुर्ग लोग कहते है की कांच का टूटना सही नहीं होता है। कई बार लापरवाही की वजह से घर में लगा कांच टूट जाता है तो हम इसे नजरअंदाज कर देते है। कुछ लोग इस सोच में रहते है की कांच टूटने का क्या मतलब हो सकता है। क्या यह शुभ है या कोई अपशगुन?



आइना ना सिर्फ हमारी खूबसूरती को बयाँ करता है बल्कि अगर इसका सही से इस्तेमाल किया जाए तो यह घर में सकारात्मक ऊर्जा भी लाता है। वास्तु शास्त्र में कांच के टूटने के कई महत्व है। आईये जानते है कांच के टूटने से जुड़े वास्तु के बारे में।

breaking of glass in astrology




वास्तु के अनुसार कांच का टूटना शुभ है या अशुभ?

अगर घर में लगा आईना अचानक से टूट जाए तो इसे अपशगुन माना जाता है लेकिन वास्तु के अनुसार इसके मायने उलटे है। वास्तु के अनुसार अगर घर में लगा आईना अचानक से टूट जाए तो इसका मतलब है घर पर आने वाले संकट को टूटे आईने ने अपने उपर ले लिया है।

ये भी पढ़े   क्या करे जिस से घर में बनी रहे सुख शांति?

ऐसे में टूटे कांच को तुरंत घर से बाहर निकाल देना चाहिए। इसके अलावा घर में कभी भी टुटा-फुट, नुकीला, धुंधला कांच नहीं रखना चाहिए। ऐसा वास्तु के अनुसार शुभ नहीं माना जाता है।

breaking of glass




चीनी वास्तुशास्त्र फेंगसुई के अनुसार आईना घर में सकारात्मक ऊर्जा को बढाता है। आईने को हमेशा उतर या पूर्व दिशा में ही लगाना चाहिए।

उम्मीद करता हु की कांच से जुड़े वास्तु से संबधित यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और कमेंट बॉक्स में अपने विचार दे ताकि हम आगे भी ऐसी अच्छी से अच्छी पोस्ट आपके बीच ला सके।

breaking of glass meaning

कांच टूटने पर क्या करें?

ऐसा माना जाता है की कांच के अंदर प्रतिबिम्ब के रूप में उसकी आत्मा दिखाई देती है। ऐसे में जब किसी इंसान की गलती से कांच टूट जाता है तो उसकी आत्मा मर जाती है और उसके उपर संकट के बादल मंडराने लगते है।
ऐसे में जिस इंसान से कांच टुटा है उसे गार्डन में लगे छोटे कुंड में अपनी परछाई देख लेनी चाहिए। ऐसा करने से टूटे कांच का अपशगुन खत्म हो जाता है और कांच तोड़ने वाले व्यक्ति के उपर से संकट चला जाता है।




काँच से जुड़े वास्तु टिप्स और जानकारी

घर में कभी भूलकर भी टुटा कांच ना रखें। अक्सर कई लोग यह गलती कर देते है और वे घर के किसी कोने में टूटे कांच को रख देते है। टुटा कांच अपने उपर संकट को ले लेता है और ऐसे में अगर उसे घर के अंदर रखेंगे तो संकट भी घर के अंदर ही रहेगा।
वास्तु के अनुसार घर में गोल या फिर अंडाकार आकार के कांच नहीं रखने चाहिए। ऐसे आईने घर की सकारात्मक ऊर्जा को खत्म कर देते है। इसलिए घर में चोखट कांच का ही इस्तेमाल करें।
इस बात का विशेष ध्यान रखें की आईने की फ्रेम का रंग तीखा या भड़कीला नहीं होना चाहिए। हो सके तो नीला, सफ़ेद आदि रंग की फ्रेम वाला आईना घर में लगायें।

ये भी पढ़े   कैसे उतारे बच्चो की नज़र - बच्चों की नजर उतारने के उपाय
Previous Post

वास्तु के हिसाब से घर के दरवाजे कैसे होने चाहिए – घर के दरवाजे का वास्तु

Next Post
Aquarium
वास्तु

फिश एक्वेरियम से जुड़े वास्तु टिप्स