वास्तु मुख्य दरवाजा

वास्तु के हिसाब से घर के दरवाजे कैसे होने चाहिए – घर के दरवाजे का वास्तु

वास्तु मुख्य दरवाजा दरवाजा ही घर के अंदर आने का और घर से बाहर जाने का एक मात्र रास्ता होता है और उसी से माँ लक्ष्मी घर में प्रवेश करती है तथा इसी से घर में पॉजिटिव और नेगेटिव एनर्जी आती है । सभी दुखो और सुखो के आने की प्रवेश द्वार दरवाजा ही होता […]

Continue Reading

कैसा हो पूर्व मुखी घर का वास्तु प्लान किस दिशा में रखने से आएगी लक्ष्मी

पूर्व मुखी घर का वास्तु  East Facing House Vastu Plan बहुत सारे लोग अपने लिए उत्तर दिशा वाले घर पर पसंद करते है।पूर्व मुखी घर लोगो की पसंद  में दूसरे नंबर में आता है।  कई लोगो का मानना कि जितने भी पूर्व दिशा वाले घर होते है वो सब समान होते है, परन्तु ऐसा नही  […]

Continue Reading

दक्षिण मुखी घर का वास्तु | Vastu for south facing house in hindi

क्या आप जानते हैं कि आपका घर किस दिशा में हैं? नही। चलिए हम आपकी मदद किए देते हैं। कोई घर किस दिशा में हैं ये हमे घर के मुख्य द्वार की दिशा से पता चल सकता है। इसके लिए आप अपने घर की तरफ मुंह करके खड़े हो जाइये और फिर अपने जेब से […]

Continue Reading
वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा

पश्चिम मुखी घर का वास्तु | West Facing House Vaastu In Hindi

West Facing House Vastu In Hindi वास्तु के अनुसार दिशा के मामले में सबसे पहले उत्तर और दूसरे नंबर पर है पूर्व और तीसरे नंबर है पश्चिम। पश्चिम मुखी घर इसलिए तीसरे नंबर पर है क्योकि लोगो को की ये गलत धारणा है की पश्चिम दिशा वाले घर वास्तु के हिसाब से अशुभ होते है। [...]
Continue Reading

वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार : ऐसे बनाएं घर के दरवाजे कभी नहीं होगी तिजोरी खाली

हम अपने घर में प्रवेश करते हैं हमारे घर के मुख्य दरवाजे से, इसलिए ऐसा कहा जाता है कि मुख्य दरवाजा आपकी और आपके परिवार की ज़िन्दगी का एक अहम् हिस्सा है। ये वो घर के दरवाजे है जहाँ से आपके घर पर नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा आती | इसलिए वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार का वास्तु सही होना […]

Continue Reading

क्या आपके घर में भी तो नहीं है ये वास्तु दोष के लक्ष्ण ?

वास्तु दोष क्या होता है? वास्तु दोष अर्थात वो कारण जिसके वजह से आपके बनते काम बिगड़ जाते हैं और आपके घर में कभी भी सुख, शांति और समृधि नही टिक पाती है। वास्तु शास्त्र में कहा गया है कि इस दुनियाँ में दो तरह की ऊर्जा होती है एक होती है सकारात्मक और एक [...]
Continue Reading