जानिये कैसी होनी चाहिए वास्तु के अनुसार सीढ़ी (vastu for staircase inside house)

[vc_custom_heading text=”Staircase Vastu – Staircase location as per vastu” font_container=”tag:h2|text_align:center|color:%23ff0000″][vc_column_text]

घर का हर कोना हमे बहुत प्यारा होता है जिसे हम बड़े ही प्यार से सजाते है। घर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है सीढियाँ वास्तु शास्त्र के अनुसार सीढ़ियां बनाई जाए तो वो तरक्की ला सकती है और अगर वास्तु के अनुसार सीढ़ी गलत बनी हो तो आपको नुकसान हो सकता है। सीढियों को बनाते वक्त भी वास्तु का अगर ध्यान रखा जाए तो कई परेशानियों से बचा जा सकता है, इसलिए सीढियों से सम्बंधित कुछ जरुर वास्तु टिप्स इस पोस्ट में बताया गए है इसलिए पोस्ट को आखिर तक जरुर पढ़े।

  • वास्तु के अनुसार सीढियाँ घर के पश्चिम दिशा या दक्षिण दिशा में होना अच्छा माना जाता है।
  • जब भी सीढियाँ बनवाएं उसका घुमाव दक्षिण दिशा की तरफ रखे ।

सीढ़ियों की संख्या -सीढ़ी डिजाइन

  • विषम संख्या में सीढ़ियां बनवाए यानि ३,५,७ ,९ आदि ।
  • कभी भी सीढियों के नीचे अटाला यानि बेकार की चीजे, जूते, चप्पल न रखे, ऐसा करना घर के मुखिया के लिए अशुभ होता है। सीढियाँ उत्तर से दक्षिण की तरफ या पूर्व से पश्चिम की और बनवाए।
  • अगर आपके घर में सीढियाँ उत्तर या पूर्व दिशा में है तो इसका वास्तु दोष ख़त्म करने के लिए दक्षिण-पश्चिम दिशा में कमरा बनवा ले ।
  • अगर आप सीढियाँ पूर्व दिशा की ओर बनवा रही है तो इस बात का ख़ास ख्याल रखे कि सीढियाँ पूर्व दिशा वाली दीवार को न छुए। दोनों के बीच कम से कम ३ इंच की दूरी होनी चाहिए।
  • सीढियों पर रेलिंग जरुर लगवाएं। सीढ़ियों की शुरुवात त्रिकोणात्मक या गोलाई से नही होनी चाहिए।
  • अगर आपने बना बनाया घर ख़रीदा है और उस घर की सीढियों में वास्तु दोष है तो इसके निवारण के लिए उस जगह एक मिट्टी के कलश में बारिश का पानी भरकर, उस कलश को मिट्टी के ढक्कन से ढककर जमीन में गाढ़ दे। अगर आप ऐसा नही कर पा रहे हैं तो घर की छत पर पक्षियों के लिए मिट्टी के दो बर्तन रखे। एक में पानी और दूसरे में सतनाजा रखे।
  • जब भी आप घर में प्रवेश करे सबसे पहले सीढियाँ नही आनी चाहिए और न ही घर के बीचोबीच सीढियाँ होनी चाहिए।
  • सीढियों के नीचे कभी भी किचन न बनवाएं। ऐसा होने से आर्थिक स्थिति पर बुरा असर पड़ता है।
  • फिश एक्वेरियम कभी भी सीढ़ियों के नीचे न रखे या पानी से सम्बंधित कोई भी चीज न रखे।
  • वास्तु के अनुसार सीढ़ी चौड़ी होनी चाहिये।
  • वास्तु के अनुसार सीढ़ी में लाल रंग का इस्तेमाल न करे।
  • सीढियों के नीचे स्टोर रूम बनवा दे पर ध्यान रहे वो व्यवस्थित और साफ़ सुथरा हो।
  • सीढियों की और उसके नीचे रोज सफाई करे और वहां कभी भी कूड़ादान न रखे, ऐसा करने से वहां मक्खी और मच्छर नही पनपेंगे और आपके घर में नकारात्मकता नही आएगी।
  • पूजा का स्थान कुछ ख़ास और अलग होता है, इसलिए इसे कभी भी सीढियों के नीचे न बनाए। सीढियों के नीचे पूजाघर होने से आपको धनहानि हो सकती है।
  • इस बात का ख़ास ख्याल रखे कि सीढियों के नीचे कभी भी अँधेरा न हो, वहां छोटा सा बल्ब जरुर लगाके रखे।
  • यदि आपके घर की सीढियाँ टूट गयी है या उसमें दरार आ गयी है तो उसे तुरंत सही करवाए क्योकि ये कुछ अशुभ होने का संकेत होती है।
ये भी पढ़े   दक्षिण-पूर्व दिशा में शौचालय हो तो क्या करें? South East Toilet Vastu Remedies In Hindi

उम्मीद है आप सीढियों से सम्बंधित इन वास्तु टिप्स को फॉलो करेंगे और तरक्की की सीढियाँ चडेगे।

ये भी पढ़े

Tags: , ,
Previous Post
वास्तु के अनुसार घर का मुख्य द्वार किस दिशा में होना चाहिए
मकान

वास्तु के हिसाब से घर के दरवाजे कैसे होने चाहिए – घर के दरवाजे का वास्तु

Next Post
फरवरी माह (माघ माह) के व्रत और त्योहार
तीज त्योहार वास्तु

फरवरी माह (माघ माह) के व्रत और त्योहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *