भूलकर भी न रखे अपने बच्चे के कमरे में ये चीजे

घर में हर सदस्य के लिए अलग जगह होती है और ऐसे में हम बच्चों की जगह का ख़ास ध्यान रखते है क्योंकि पढ़ाई के दौरान उन्हें किसी तरह की तकलीफ ना हो।आजकल तो ऐसा ट्रेंड चल पडा है की बच्चों का कमरा ही अलग होता है और जिनमे उनकी सारी चीजें होती है।
ऐसे में बच्चे माँ-बाप से दूर रहते है तो बच्चे कमरे में क्या कर रहे है और उनकी सुर्ख्सा का ध्यान रखने की जिम्मेदारी माँ-बाप की होती है।उनके कमरे में कौनसी चीजें रखना जरुरी है और कौनसी चीजें नहीं रखनी चाहिए इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए।आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की बच्चों के कमरे में किन-किन चीजों को नहीं रखना चाहिए।

ये भी पढ़े : किस दिशा में रखे चमतकी क्रैसुअल का पौधा

बच्चों के कमरे में भूलकर भी ना रखें यह चीजें

भारी पेंटिंग या शीशा

कभी भी बच्चों के कमरे में भारी पेंटिंग या शीशा नहीं रखना चाहिए क्योंकि इससे बच्चों को खतरा हो सकता है।बच्चे बहुत जिद्दी होते है और ऐसे में उन्हें इन चीजों से चोट लग सकती है।

ये भी पढ़े   स्विमिंग पूल से संबंधित वस्तु टिप्स - swimming pool for home vaastu tips

बिजली के सामान

बच्चों को अपने कमरे में बिजली के सामान बहुत अच्छे लगते है।इसलिए बिजली के स्विच उपर की और रखें और अगर निचे है तो उसे कवर से ढक कर रखें।बिजली के तार को उपर की और लगायें जिससे उन तक उनका हाथ ना पहुँच पायें।

ये भी पढ़े : किस दिशा में सोना चाहिए

नुकीली चीजें ना रखें

बच्चे अगर छोटे है तो उनके कमरे में नुकीली चीजें जैसे सुई, केंची, पिन, चाक़ू आदि ना रखें।बच्चे शैतानी करते वक्त इन चीजों में कुछ ज्यादा ही रूचि लेते है और एसेमे इन्हें नुकसान उठाना पड़ सकता है।

दवाईयां

कभी भी अपनी दवाई हो या बच्चों की दवाई उन्हें बच्चों के कमरे में नहीं रखनी चाहिए।बच्चों को यह पता नहीं चलता की यह दवाई है और इसलिए वे इसे सीधा खा सकते है जिनसे उन्हें साइड इफ़ेक्ट हो सकते है और यह उनके लिए बहुत नुकसानदायक होता है।

कमरे की सफाई रखें

बच्चों की आदत होती है की वे जमीन पर पड़ी चीजों को मुहं में डाल देते है जिनसे उन्हें नुकसान पहुँचता है, इसलिए हमेशा कमरे की सफाई रखें।

इलेक्ट्रॉनिक गैजेट ना रखें

बच्चों के कमरे में कभी भी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट जैसे मोबाइल, टीवी आदि ना रखें।इससे बच्चों पर नेगेटिव इफ़ेक्ट पड़ता है और बच्चे पढ़ाई से दूर रहते है।

इन बातों का भी ध्यान रखें

  • बच्चों के कमरे को ज्यादा फेशनेबल ना बनायें और जितना साधारण रहेगा उतनी ज्यादा चीजें उसमे आएगी। 
  • बच्चों के कमरे में हर जगह शीशे ना लगायें और इसकी जगह प्लास्टिक का प्रयोग करे. 
  • किताबों को ज्यादा उंचाई पर ना रखें, क्योंकि ज्यादा उंचाई पर किताबें रखने से बच्चे उन्हें लेने की कोशिश करते है और इससे उन्हें चोट आ सकती है। 
  • कमरे का फर्नीचर मजबूत होना चाहिए। 
  • कमरे में बेड या टेबल का किनारा धारदार नहीं होना चाहिए, क्योंकि इससे बच्चे को चोट लग सकती है।
  • बच्चे की हर जरूरत का अच्छे से ख्याल रखें । 
ये भी पढ़े   शमी वृक्ष वास्तु :एक चमत्कारी पौधा जो कर देगा मालामाल, पीढ़ियों तक वास करेंगी धन की देवी

ये भी पढ़े : कैसी होनी चाहिए घर की नेमप्लेट

टैग्स:
Previous Post
वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा
मकान

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा- Vastu For House In Hindi

Next Post
फिटकरी से बवासीर का इलाज कैसे करें
Uncategorized

फिटकरी से बवासीर का घर बैठे उपचार