AC vaastu

वास्तु के अनुसार किस दिशा मे लगाये AC ऐसी

 घर या ऑफिस मे हवा फेंकने वाले उपकरण अगर वास्तु के अनुसार न लगाया जाये तो आपके कर्ज, रोग वह घर मे कलह के कारण बन सकते है। वास्तु के अनुसार घर में अग्नि का स्थान निश्चित किया गया है। ऐसे में स्थान में परिवर्तन किए जाने से शनि ग्रह बुरी तरह से प्रभावित होता है। जिसके चलते सफलता पर भी असर पड़ता है। शास्त्रों के मुताबिक जब तक घर में या ऑफिस में गर्म हवा फेंकने के उपकरण लगे हुए हैं, तब तक कर्ज लेने की स्थिति बनती रहती है। साथ ही परिवार के सदस्यों के बार-बार बीमार होने की वजह से सुरक्षित किया गया धन भी 3 से 4 महीने में अनावश्यक रूप से खर्च होने लगता है। परिवार में तनाव जैसी स्थिति खड़ी हो जाती है और इससे घर में अशांति रहने लगती है। आज हम बात कर रहे है AC की 

किस दिशा में न लगाएं AC

  1. हमेशा वास्तु के अनुसार सही दिशा मे AC लगानी चाहिए अगर आप गलत दिशा मे लगाते है तो आपके मन, शरीर और आर्थिक स्थिति पर नकरात्मक प्रभाव पड़ता है।
  2. कमरे की दक्षिण दीवार पर AC होने पर कारोबार मे घाटा होता है। कमरे के दक्षिण-पश्चिम दिवार पर होने पर आर्थिक हानि हो सकती है। इसका प्रभाव परिवार मे रहने वाले व्यक्ति के समृद्धि पर भी असर पड़ता है।
  3. घर की पश्चिम दिशा मे AC लगा होने से आमदनी अस्थिर रहती है जिसके कारण लक्ष्मी जी का वास नही हो पाता।
  4. अपने बेड, स्टडी टेबल या वर्क टेबल के सामने AC ना लगाऐ।
  5. एसा करने पर सेहत पर नकरात्मक प्रभाव पड़ेगा। अपने बेड के हेड रेस्ट के ठीक ऊपर भी एसी ना लगवाऐ इससे नींद प्रभावित होती है। घर मे हर कमरे मे एसी है तो भी सुबह शाम खिड़किया खोले एसा करने से सकरात्मक ऊर्जा घर मे आऐगी और घर का वास्तु भी सुधरेगा।
ये भी पढ़े   भूलकर भी दान में ना दे यह 8 चीजें

किस दिशा मे लगाऐ AC

वास्तु शास्त्र के मुताबिक गर्म हवा फेंकने वाले उपकरण या फिर लौह व अग्नि से संबंधित उपकरणों को रखे जाने का एक निश्चित स्थान माना गया है। अग्नि कोण की दिशा हमेशा दक्षिण पूर्व होनी चाहिए। क्योंकि अग्नि के संतुलन बनाए रखने के लिए यह दिशा सर्वोत्तम मानी गई है। भारी एसी दक्षिण-पूर्व या उत्तर-पश्चिम दिशा मे लगाऐ। अगर किसी वजह से दक्षिण पूर्व दिशा में अग्नि संबंधित उपकरण नहीं रख पा रहे हैं तो ईशान कोण में इसके लिए उपाय किए जाने की बेहद जरूरत है।

एक गिलास पानी

वास्तु के अनुसार यदि अग्नि दिशा में किसी तरह का गर्म हवा फेंकने वाला उपकरण नहीं लग पा रहा है तो इसके लिए ईशान कोण को शीतल करने के लिए उपाय करना चाहिए। ऐसा किए जाने से कमरे में अग्नि और जल का संतुलन सामान्य हो जाता है और ऐसी स्थिति में वास्तुदोष लगने की संभावना बेहद कम हो जाती है। अगर ईशान कोण में उपाय किए जाने की जरूरत है तो घर के या फिर कमरे के ईशान कोण में एक लोटे में पानी भरकर रखना चाहिए। यह लोटा पीली धातु का होना चाहिए। पानी रखने के साथ ही उसमें जमा पानी को रोजाना बदलने की भी जरूरत होती है।

Previous Post
लक्ष्मी प्राप्ति के अचूक टोटके
मनी

माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के उपाय – लक्ष्मी प्राप्ति के अचूक टोटके