study direction as per vastu

पढ़ाई में सफल होने के लिए वास्तु टिप्स Study Direction As Per Vastu

Vastu tips for success in studies

बच्चों की पढ़ाई के लिए उनके माँ-बाप हर संभव प्रयास करते है, उन्हें अच्छे से अच्छे स्कूल और कॉलेज में दाखिला दिलवाते है, ट्यूशन लगाते है और पूरी तरह से उन पर ध्यान रखते है लेकिन सभी प्रयासों के बाद भी बच्चा एग्जाम में अच्छे नंबर नहीं ला पाता है और निराशा होती है।

#vastu shastra for students #vastu shastra for study

कई बार एग्जाम की तेयारी में बच्चा जी-जान लगा देता है लेकिन फिर भी रिजल्ट मन मुताबिक नहीं आता है। बच्चे का दिमाग अच्छा चलता है लेकिन फिर भी पता नहीं क्यों मार्क्स अच्छे नहीं आ पाते। इसके पीछे वास्तु दोष भी हो सकता है, जिसके बारे में आपका जानना बेहद जरुरी है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही वास्तु उपयों के बारे में बताएँगे जिन्हें अपनाकर आप पढ़ाई में सक्सेस हो सकते है।

#Vastu for student #vastu tips for study room



पढ़ाई में सफल होने के लिए वास्तु टिप्स

  • पढ़ाई में सफलता प्राप्त करने के लिए बच्चों की पढ़ाई का कमरा उतर या पूर्व दिशा में जिसे ईशान कोण भी कहते है में बनवाना चाहिए। ऐसा करने से बुध, सूर्य और गुरु की कृपा होती है और पढ़ाई में सफलता भी मिलती है।
  • जिस टेबल पर बैठकर आप पढ़ाई करते है उसके पूर्व दिशा में माँ सरस्वती की तस्वीर लगानी चाहिए। माँ सरस्वती को विद्या की देवी कहा जाता है।
  • पढ़ाई के टेबल पर एक ग्लोब जरुर रखें और बीच-बीच में इसे घुमाते रहें।
  • अगरसुबह के समय सूर्य की किरणें पढ़ाई के रूम में आती हैतो सुबह के वक्त दरवाजे, खिड़कियाँ आदि को खोलकर रखना चाहिए ताकि सूर्य की सकारात्मक ऊर्जा का लाभ भी मिल सके।
  • सभी किताबों के बीच में केसर जरुर रखें।
  • रोज बादाम और शहद का सेवन करें। बादाम का सेवन करने से स्मरण शक्ति बढती है, जिससे आपको पढ़ा हुया लम्बे समय तक याद रहेगा।
  • अपनी किताबों को रात में सोपढ़ाईने से पहले उतर-पूर्व दिशा में रखें।
  • पढ़ाई करने वाले बच्चों को हमेशा दक्षिण या पश्चिम दिशा में सर करके सोना चाहिए। इससे उनका स्वास्थ्य अच्छा रहता है और पढने में मन भी लगा रहता है।
  • जिन बच्चों को पढने का दौरान आलस्य आता है या पढ़ाईसेमन भटकने लगता है तो उनके कमरे में हरा रंग करवाना चाहिए।
  • पढ़ाई वाले कमरे में कंप्यूटर को ईशान कोण में कभी नहीं रखना चाहिए, क्योंकिइससे पढ़ाई में बाधा आती है।
  • पढ़ाई का कमरा शौचालय के नीचे नहीं होना चाहिए। ऐसा होने से कमरे के अंदर नकारात्मक ऊर्जा आती है, जिससे पढ़ाई से मन भटकने लगता है।
  • भी ना रखें।
ये भी पढ़े   शरीर के 7 चक्र को कैसे जगाये -चक्र मैडिटेशन करने का तरीका

#Vastu for study room #kids study room vastu






  • पढ़ाई के कमरे में पर्याप्त मात्रा में रौशनी होनी चाहिए।
  • जिस स्थान पर बैठकर आपका बच्चा पढता है उस स्थान को हमेशा साफ़ रखना चाहिए।
  • बच्चे के कमरे में किसी तरह की उदासीन तस्वीर नहीं लगानी चाहिए। आप दोड़ते हुए घोड़े की तस्वीर बच्चे के कमरे में लगा सकते है इससे उन्हें आगे बढ़ते रहने की प्रेरणा मिलेगी।
  • बच्चे कस स्टडी टेबल पर किताबें, पेन, कॉपी आदि जरुरी सामान ही रखना चाहिए। गैर जरुरी सामान को तुरंत टेबल पर से हटा दे।
  • बच्चे की पढ़ाई के टेबल पर एक लैप जरुर रखना चाहिए, इससे एकाग्रता बढती है और उसका ध्यान भी पढ़ाई में लगता है।
  • पढ़ाई करते समय आसपास का वातावरण शांत होना चाहिए। आप अकेले में पढ़े या फिर ग्रुप में पढ़े, इससे नींद नहीं आती है।
  • रोजाना एक गिलास गर्म दूध पीना चाहिए, इससे दिमाग तेजी से काम करता है।
  • किसी भी तरह का नशा ना करें और तनाव ना ले।
  • पढ़ाई के कमरे में स्विच बोर्ड ईशान कोण में नहीं होना चाहिए। इसके अलावा किसी भी दिशा में स्विच बोर्ड बना सकते है।
  • स्टडी टेबल पर बंद घड़ी, टूटे और बंद पड़े पेन, धारदार चाक़ू जैसी चीजें भूलकर
टैग्स: , , , ,
Previous Post
puja
वास्तु

पूजा करते समय मुहं किस दिशा में करें

Next Post
तिजोरी की दिशा
जिंदगी

तिजोरी की दिशा बदलेगी किस्मत – Vastu Shastra For Tijori In Hindi