budh grah ke upay

बुध को मजबूत कैसे करे, बुध ग्रह के लक्षण और उपाय budh grah ke upay

मजबूत बुध ग्रह के लक्षण और उपाय

बुध ग्रह बुद्धि, विवेक, निर्णय क्षमता का कारक होता है। बुध ग्रह को मिथुन और कन्या राशि का स्वामी माना जाता है। जिन व्यक्तियों का बुध ग्रह मजबूत होता है वह अत्यंत बुद्धिमान होते हैं और बहुत सोच समझकर ही अपने कार्य को करते हैं। उन्हें विद्या, व्यापार व रोजगार के क्षेत्र में सफलता प्राप्त होती है। जिन व्यक्तियों का बुध मजबूत होता है वे अपनी वाणी और बुद्धि से अपने अधिकतर कार्य को कर लेते हैं। वे शिक्षा व व्यापार के क्षेत्र में नाम कमाते हैं। बुध ग्रह को मान व सम्मान का भी कारक माना जाता है। जिस व्यक्ति को बुध मजबूत होता है उसे समाज में अत्यधिक मान सम्मान मिलता है। अपनी ओजस्वी वाणी के कारण वह कुशल वक्ता बनता है।

जीवन में अपनी वाणी व बुद्धि के बल पर ही सफलता प्राप्त करता है। जिनका बुध ग्रह मजबूत होता है वह व्यक्ति सौंदर्यवान होते हैं। उनके चेहरे पर एक तेज होता है। वह कुशल वक्ता होते हैं और अपनी बातों से ही लोगों को अपने वश में कर लेते हैं। ऐसे व्यक्ति की बातें लोग ध्यान से सुनते हैं। ऐसे व्यक्ति बुद्धिमान होते हैं बुद्धि के साथ-साथ उनकी लक्ष्मी जी प्रबल होती है। वे व्यापार व शिक्षा के क्षेत्र में अत्याधिक उन्नति करते हैं। वे व्यक्ति आत्म संयमी व आत्मविश्वासी होते हैं किंतु उनमें अहंकार नहीं होता। शेयर बाजार व पैसे से संबंधित व्यापार में उन्हें अत्यधिक उन्नति मिलती है। लेकिन अगर किसी व्यक्ति का बुध ग्रह नीच का है तो उसके काफी दुष्परिणाम उसे भुगतने पड़ते हैं तो आइए जानते हैं कमजोर बुध ग्रह के दुष्प्रभाव

ये भी पढ़े   राहु ग्रह शान्ति के उपाय, राहु ग्रह को कैसे मजबूत करें, कैसे करे राहु ग्रह उपाय

कमजोर बुध के लक्षण, कमजोर बुध के उपाय

अगर आपका बुध ग्रह कमजोर है तो आपके नाखून और बाल कमजोर होना शुरू हो जाते हैं। आपकी पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है।आपकी बोलने की क्षमता व आपकी बोलने की शैली प्रभावी नही होती। लोगों पर आपकी बातों का कोई प्रभाव नहीं पड़ता। आपकी सुनने की शक्ति कमजोर होने लगती है। आपके दांत समय से पहले ही कमजोर हो जाते हैं। आपको यौन रोग हो जाते हैं। आपके अपने महिला संबंधियों से संबंध खराब होने लगते हैं। हो सकता है कि आपकी बहन, बुआ, मौसी साली बीमार रहने लगे। कमजोर बुध ग्रह के कारण व्यक्ति का मानसिक विकास कम होता है। वह व्यक्ति मानसिक रूप से कमजोर होता है उसकी बुद्धि अल्पविकसित होती है उसे चीजों को समझने में परेशानी होती है।
जिन व्यक्तियों का बुध कमजोर होता है उन्हें दूसरों पर विश्वास नहीं होता जिन लोगों का बुध खराब होता है उन्हें त्वचा रोग और पेट के रोग भी जैसे पेचिश, अतिसार हो सकते हैं। जिनका बुध कमजोर होता है उनकी वाणी प्रभावशाली नहीं होती। लोग उनकी बातों पर ध्यान नहीं देते हैं। कमजोर बुध के कारण आपके नौकर आपकी बातें नहीं सुनते हैं और आपके व्यापार में भी समस्याएं आती हैं।

बुध को मजबूत करने के उपाय

बुध ग्रह को मजबूत करने के लिए बुधवार के दिन तुलसी का पौधा लगाएं और उसकी रोज दिया बातें करें। उस पर लगने वाली मंजरी को हटाए। बुधवार के दिन गाय को हरा चारा खिलाएं। बुधवार के दिन मूंग का सेवन करें और चिड़ियों को गाय को भीगी हुई मूंग खिलाएं। खाना खाने से पहले तुलसी दल को गंगाजल के साथ ग्रहण करें उसके पश्चात ही भोजन करें। ॐ बुं बुधाय नमः मंत्र का 108 बार जप करें। गणेश अथर्वशीर्ष मंत्र का सुबह जप करें। किन्नरों को हरी साड़ी और सुहाग का सामान दान करें। पन्ना रत्न धारण करें। कन्याओं को भोजन कराएं। बुधवार के दिन गाय को हरा चारा डाले। गाय को सुबह गुड़ घी वाली रोटी डाले। काले कुत्ते को रोटी डालें। गणेश जी और माॅ दुर्गा की पूजा करें। तांबे की प्लेट में छेद कर उसे पानी में बहाएं। बुधवार को बुध स्रोत का पाठ करें। बुधवार के दिन गणेश जी की विधि विधान से पूजा करें। भगवान गणेश जी को मोदक का भोग लगाएं बाद में प्रसाद रूप में ग्रहण करें। किसी को अपशब्द ना बोले।

ये भी पढ़े   सूर्य ग्रह को मजबूत करना है तो करें ये उपाय : Surya Grah Upay

कमजोर बुध को मजबूत बनाने के उपाय

बुधवार के दिन मिट्टी का खाली घड़ा बहते पानी में प्रवाहित कर दें। बुधवार के दिन हरे रंग के कपड़े पहने। बुधवार के दिन गणेश जी के मंदिर में जाकर हरी मूंग की दाल चढ़ायें। दुर्गे मां के मंदिर में जाकर हरी कांच की चूड़ियां भेंट चढ़ाएं अगर हो सके तो कन्याओं को हरे रंग का वस्त्र दान करें बुधवार के दिन घर में पंच पल्लव का तोरण लगाएं। घर में चौड़ी पत्ती वाले पौधे लगाएं और इन्हें दान करें। रास्ते में मिलने वाले किन्नरों को कुछ न कुछ अवश्य दें। सूर्यास्त से पहले गाय को भोजन कराएं। किसी भी निर्धन को हरी पत्तेदार सब्जी दान करें । एकअपने हाथ में हरे रंग का धागा बांधे। खाना खाते समय रोज एक हरी मिर्च खायें। सोने के गहने धारण करें। स्त्रियां कान में हमेशा सोना पहने। अपने पर्स में दो इलायची अवश्य रखें। घर से बाहर निकलते समय इलायची खाकर निकले। भोजन करने के बाद सौफ इलायची और मिश्री खायें।

खानपान और आचार विचार से बुध को मजबूत कैसे करे

बुध को मजबूत करने के लिए आपको अपनी अनामिका अर्थात सबसे छोटी उंगली में हरे रंग का धागा पहनना चाहिए। हरा रंग बुध का कारक होता है। आप बुधवार के दिन इस धागे को बांधे। अगर हरे रंग का धागा पहनना मुश्किल है तो अपनी अनामिका के नीचे हरे स्केच पेन से लाइनें बनाले। आपको अपने भोजन में तीखे भोजन, हरी पत्तेदार सब्जियों प्रयोग करें। अपने व्यवहार को मृदु रखें किसी से भी चीख चिल्लाकर बातें ना करें। अपने ननिहाल से संबंध मधुर रखें।मधुर संगीत सुने। नियमित रूप से पूजा जप अवश्य करें। आप अपने दाहिने हाथ की अनामिका में कांसे का छल्ला भी पहन सकते हैं। बुध को मजबूत करने के लिए आपको विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ सुबह-सुबह करना चाहिए। आपको रोज स्नान करना चाहिए और सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। बुध को मजबूत करने के लिए भीनी सुगंध का प्रयोग अवश्य करें। भोजन में हरी मिर्च, हरी पत्तेदार सब्जियों का प्रयोग करें। भोजन करते समय आपका चेहरा पूर्व या उत्तर दिशा की तरफ होना चाहिए

ये भी पढ़े   बृहस्पति ग्रह को मज़बूत कैसे करे, बृहस्पति ग्रह को मजबूत करने का उपाय, Brihaspati grah upay

 
Next Post
वास्तु के अनुसार आईना कहां लगाये
Uncategorized

घर में आईना किस दिशा में होना चाहिए, आईना का मुंह किस दिशा में होना चाहिए?