Vastu tips for the main door

घर के मेन डोर पर कौन सी चीजें रक्खे ताकि बरक्कत बनी रहे – Vastu tips for the main door

हमारा घर हमारे व्यक्तित्व का आईना होता है। हम सब अपने घर को सजा कर रखना चाहते हैं। कोई व्यक्ति आपके घर आता है तो वह आपके मेन डोर से ही प्रवेश करता है। हमे मेन डोर की सजावट पर विशेष ध्यान देना चाहिए। हमें ध्यान रखना चाहिए हमारा मेन डोर हमारे लिए शुभ हो। हमारा मेनडोर हमारे लिए बरक्कत लाये। हम सब अपने घर को अंदर से तो सजाकर रखते है। घर के मेन एन्ट्रेन्स पर हम ध्यान नही देते। कुछ चीजों का ध्यान रखकर हम मुख्य द्वार को शुभ बना सकते हैं। सुंदर मेन डोर सकारात्मक उर्जा को आकर्षित करता है। जहाॅ सकारात्मकता होगी वहाॅ बरक्कत अपने आप होगी।

कैसा हो घर का मुख्य द्वार

घर का मेन डोर सुंदर व आकर्षक होना चाहिए। घर का मेन गेट अन्य दरवाजों से बड़ा और ऊंचा होना चाहिए। अगर घर का मेन गेट दो हिस्सों में बना है। छोटे और बड़े तो हमें बड़े गेट को अपने लिए इस्तेमाल करना चाहिए। छोटा गेट अपने हाउस हेल्प के लिए प्रयोग करना चाहिए। घर का मेन गेट बाहर की तरफ खुलना चाहिए। हम नया घर बनवायें तो घर का मेनगेट पश्चिम और उत्तर दिशाओं में हो। इन दिशाओं में बना घर सर्वश्रेष्ठ होता है। दक्षिण-पश्चिम दिशा में मेन गेट न बनवाएं। घर का मेन गेट लकड़ी या धातु का होना चाहिए। घर का मेन डोर किस धातु का बना हो यह उसकी दिशा पर निर्भर करता है।

ये भी पढ़े   वास्तु शास्त्र के अनुसार अपने पूर्वजों की तस्वीर घर में कहां लगानी चाहिए

कौन सा मैटेरियल उपयुक्त है मेन गेट के लिए

हर दिशा का एक स्वामी ग्रह होता है। उसी के अनुसार घर के मेन एन्ट्रेन्स के लिए धातु चुनी जाती है। अगर हमारे घर का मेन एन्ट्रेन्स पूर्व दिशा की ओर है तो हमारे घर का मुख्य गेट लकड़ी का हो। हमारा घर का मुंह पश्चिम दिशा की ओर है तो मेन डोर लोहे का हो। लोहे का गेट पसंद नही है तो लोहे के काम का गेट लगा लें। घर दक्षिण दिशा में खुले तो मेन डोर लोहे व लकड़ी का बना हो। उत्तर दिशा में बना मेन डोर सफेद या सिल्वर कलर का हो। इतना करना मुश्किल है तो हम लकड़ी का मेन डोर लगाएं। हर दिशा के लिए लकड़ी का डोर उत्तम होता है।

मेन डोर पर क्या रखे कि आये खुशहाली

मेन डोर पर हमेशा सुंदर फूलों वाले व बिना कांटों वाले पौधे लगाए । मेन डोर पर आम और अशोक के पत्तों के बंदनवार लगाएं। पूजा में गैंदे के फूलों के तोरण बहुत शुभ होते हैं। जब ये तोरण सूख जायें तो उन्हें दरवाजे से हटा दें। घर के मेन डोर पर काले घोड़े की नाल लटकाना शुभ होता है। तुलसी का पौधा भगवान विष्णु को अतिप्रिय होता है। तुलसी का पौधा मेन डोर के पास लगाना शुभकारी है। अंदर की ओर देखते हुए गणेश जी की तस्वीर मेन डोर पर लगाए। इससे घर की सभी विघ्न बाधाएं दूर होंगी। स्वास्तिक को गणेश जी का प्रतीक माना जाता है। लाल रंग के गेरू से मेन डोर पर स्वास्तिक बनाना कल्याणकारी होता है।

ये भी पढ़े   दक्षिण मुखी घर का वास्तु | Vastu for south facing house in hindi

कैसे सजाए घर के मेन एन्ट्रेन्स को

घर के प्रवेश द्वार पर कम लेकिन सुंदर कलाकृतियां रखे। सुंदर पत्तों व फूलों वाले पौधे लगाएं। लटकाने वाले सुंदर हैंगिंग प्लांटस लगाये। दीवारों पर वाॅल शेल्फ लगा कर पौधे लगाए। फूल व पौधे घर में सकारात्मकता लाते हैं। घर के मेन एन्ट्रेन्स पर विन्ड चाइम लगाए। विन्ड चाइम की घंटियों की आवाज सकारात्मकता लाती है। घर के मेन डोर के पास चिडियों के लिए दाना पानी हमेशा रखें। चिडियों के लिये दाना पानी रखने से नवग्रह प्रसन्न होते हैं। चिड़ियों की चहचहाहट घर में गूंजने से मन प्रसन्न होता है। दाना पानी के बर्तन रोज साफ करें। चिडियों को साफ पानी और भोजन दें। मेन डोर पर हमेशा रोशनी होनी चाहिए। सफेद, नीले, दूधिया रंग की रोशनी को मेन गेट पर लगाएं।

कैसी नेम प्लेट कहाॅ लगाए

हर घर बिना नेमप्लेट के अधूरा है। मेन डोर के बाहर एक सुंदर नेम प्लेट का होना आवश्यक है। गृहस्वामी की पहचान उसके मेन गेट के बाहर लगी नेम प्लेट होती है। नेम प्लेट सुंदर होनी चाहिए। इस पर साफ अक्षरों में गृह स्वामी का नाम लिखा होना चाहिए। घर का मेन डोर पूर्व दिशा में होने पर नेम प्लेट लकड़ी की हो। दक्षिण दिशा में भी लकड़ी की नेमप्लेट शुभ मानी जाती है। मेनडोर उत्तर या पश्चिम की दिशा में होने पर धातु की नेमप्लेट लगाए। मेन डोर पर लगने वाली घंटी की आवाज मीठी, सुकून देने वाली होनी चाहिए। घंटी को मेन डोर पर पाॅच से छह फुट उंचाई की ओर लगाए।

ये भी पढ़े   कछुआ अंगूठी की जानकारी - कछुआ के फायदे - कछुआ वास्तु इन हिंदी

क्या न रखें मेन डोर के पास

घर के मेन एन्ट्रेन्स पर बहुत सारे डेकोरेटिव आइटम्स न रखें। भरा भरा एन्ट्रेन्स नकारात्मकता बढाता है। मेन डोर के पास शौचालय न बनवाएं। मेन डोर को लाल, ऑरेंज, काले, परपल जैसे गहरे रंगों से न रंगे। गहरे रंग नकारात्मकता लाते हैं। मेन गेट के पास टूटी फूटी चीजें चेयर, टूटे गमले न रखें। मेन डोर टूटा, पेंच निकला न हो। डोर में से कोई आवाज न आए। मेन डोर के पास कूड़ेदान न रखें। मेनडोर के सामने कोई मिरर न रखें। मेन डोर सड़क से नीचा न हो। मेन डोर पर कुछ न टाँगे। अपने घर के मेन डोर के पास शू रैक न रखें। मेनडोर पर लाल रंग का बल्ब न लगायें। मेन डोर के सामने कोई रूकावट न हो।

सकारात्मक उर्जा के लिए क्या रक्खें

घर में सकारात्मक उर्जा के लिए घर के मेन डोर के पास रंगोली बनाए। मेन गेट पर रोली कुमकुम से स्वास्तिक बनायें। स्वास्तिक को गणेश जी का प्रतीक मानते हैं । मिट्टी या काॅच के बर्तन में फूलों व पत्तियों को रखें। खुशबू के साथ सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। फूल, पत्तियों के मुरझाने से पहले पानी बदल लें। दीवारों व गेट पर गेरू से सुंदर कलाकृतियां बनायें। रजनीगंधा, मोगरा जैसे सुंदर व खुशबू वाले पौधे लगाए। वातावरण सकारात्मक रहेगा।

टैग्स:
Previous Post
study direction as per vastu
बच्चे

भूल के भी न रखें ये 7 चीजे अपने बच्चों के स्टडी रूम में

Next Post
वास्तु के अनुसार गौ मुखी प्लाॅट शुभ है या अशुभ
पौधे

वास्तु के अनुसार गौ मुखी प्लाॅट शुभ है या अशुभ